November 30, 2022

राजस्थान के उदयपुर में दिन दहाड़े हुए, टेलर कन्हैयालाल के हत्याकांड से पूरा देश दहक उठा है। टेलर कन्हैयालाल के समर्थन में लोग सड़कों पर उतर आए हैं। इसी बीच इस हत्याकांड का विरोध करने उतरी भीड़ में से एक युवक ने पुलिसकर्मी को ही घायल कर दिया है। व्यक्ति ने पुलिसकर्मी की गर्दन पर तलवार मार दी। पुलिसकर्मी को जख्मी हालत में अजमेर रेफर कर दिया गया। जिस पुलिस कांस्टेबल को चोट लगी है उसका नाम संदीप चौधरी है। संदीप चौधरी के घायल होने के बाद प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच स्तिथि और गर्म हो गयी। बात यहां तक पहुंच गई कि दोनों एक दूसरे से टकराने के लिए तैयार खड़े थे।

प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस ने अपने सारे प्रयास किये। पुलिस ने उन पर आंसू गैस के गोले छोड़ दिए। इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने जवाब में पुलिस पर पथराव करना शुरू कर दिया। वहां के एसपी सुधीर चौधरी ने बताया कि प्रदर्शन करने वाले उपद्रवी लोगों में से लगभग 40 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

क्यों हुई कन्हैयालाल की हत्या

दरअसल कन्हैयालाल ने नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट डाल दी थी। इसके बाद उन्हें धमकी मिलने लगी। फिर मंगलवार को अचानक गौस और रियाज उनकी दुकान पर आए और कपड़े का नाप देने के बहाने उसका गला काट दिया। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही 3 अन्य लोगों को भी पुलिस ने हिरासत में लिया है।

कन्हैयालाल की पत्नी की मांग, ‘हत्यारों को फांसी’;

उदयपुर में मंगलवार को बेरहमी से मारे जाने वाले कन्हैयालाल का आज अंतिम संस्कार कर दिया गया। कन्हैयालाल के शव का पोस्टमार्टम करने के बाद उनके शव को जब उनके घर ले जाया गया, तो उनकी पत्नी रोती- बिलखती हुई बस यही कह रही थी कि, ‘हत्यारों को फांसी दो, नहीं तो ये लोग कई और लोगों को मारेंगे।’ हत्याकांड के बाद शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया था। इसके बाद उनकी अंतिम यात्रा में भारी मात्रा में भीड़ एकत्र हुई। अंतिम यात्रा पर लोगों ने ‘हत्यारों को फांसी दो’ के नारे लगाए। वहीं हत्याकांड के विरोध में शहर को भी बंद रखा गया।


Leave a Reply