August 19, 2022

डॉक्टर हर किसी की ज़िंदगी में एक अलग ही स्थान रखते हैं। भगवान के बाद यही तो हैं जो इंसान को एक नई जिंदगी प्रदान करते हैं। क्या आप में से किसी ने भी बिना डॉक्टर की दुनिया के बारे में सोचा है? ऐसे सोचने भर से ही डर लगने लगता है। तो फिर आप सब यह सोचिए न कि डॉक्टर हमारे लिए कितने ज्यादा महत्वपूर्ण होते हैं। ऐसे में हम एक दिन तो इन्हें शुक्रिया अदा करने के लिए निकाल ही सकते हैं न?

हर साल 1 जुलाई को India में नेशनल डॉक्टर्स डे मनाया जाता है। इस दिन डॉक्टरों को सम्मान दिया जाता है और उनकी जॉब के लिए उन्हें सराहा जाता है। आइये डॉक्टर्स डे के मौके पर जानते हैं इसके महत्व और इतिहास के बारे में। साथ ही हम यह भी जानेंगे कि इस साल डॉक्टर्स डे की क्या थीम होने वाली है।

डॉक्टर्स डे का इतिहास और मह्त्व

दरअसल एक चिकित्सक थे जिनका नाम बिधान चंद्र राय था। उनका जन्म 1 जुलाई 1882 को हुआ था। इसी के साथ ही उनकी पुण्यतिथि भी 1 जुलाई को ही होती है। बिधान चंद्र राय आज़ादी के समय में पीड़ितों और घायल व्यक्तियों का निःस्वार्थ मन से इलाज किया था और उनकी सेवा की थी। इसीलिए उनको सम्मान देने के लिए हर साल 1 जुलाई को उनके जन्मदिन और पुण्यतिथि को डॉक्टर्स डे के रूप में मनाया जाता है। इस दिन डॉक्टरों को शुक्रिया अदा किया जाता है और उन्हें सम्मान दिया जाता है। इस दिन को मनाने की शुरुआत 1991 में हुई थी और तभी से हर साल डॉक्टरों की सराहना करने के लिए ये दिन मनाया जाता है।

डॉक्टर्स डे की थीम

हर साल डॉक्टर्स डे की कोई न कोई थीम निर्धारित की जाती है। इस साल यानी डॉक्टर्स डे 2022 की थीम ‘Family doctors on the Front Line’ रखी गई है।

Leave a Reply