August 19, 2022

आज यानी रविवार को सात विधानसभा सीटों और तीन लोकसभा सीटों के उपचुनाव के नतीजे सामने आ चुके हैं। नतीजे सामने आने के बाद यह साफ हो गया कि अब सपा के गढ़ में भी उनका बोलबाला नहीं रहा। हम बात कर रहे हैं उत्तरप्रदेश के रामपुर और आजमगढ़ की। यहां तो हमेशा से ही सपा आगे रही है, लेकिन इस बार तो पासा ही पलट गया। आजमगढ़ और रामपुर में भी सपा को हार का सामना करना पड़ा। वहीं भाजपा ने सपा को हराकर जीत हासिल की है।

सपा के दो मजबूत गढ़ भी गए अब हाथ से

दरअसल उत्तरप्रदेश में जब विधानसभा चुनाव हुए थे, उसके बाद महासचिव आजम खां ने इस्तीफा दे दिया था। इससे रामपुर की सीट खाली हो गई थी। वहीं दूसरी ओर आजमगढ़ की सीट अध्यक्ष अखिलेश यादव के इस्तीफे की वजह से खाली हुई थी। अब इन दोनों ही सीटों पर हुए उपचुनाव में भाजपा को जीत मिली है। आजमगढ़ में सपा के धर्मेंद्र यादव को हराकर भाजपा के दिनेश लाल यादव ने जीत का बिगुल बजाया है, तो वहीं रामपुर में भाजपा के घनश्याम यादव ने सपा के आसिम को धूल चटाई है।
दिनेश लाल यादव ने सपा के धर्मेंद्र यादव को 8,679 वोटों से मात दी है तथा भाजपा के घनश्याम यादव ने आसिम को 42,192 वोटों से मात दी है। हम आपको बता दें कि आजमगढ़ सीट से मात खाने वाले धर्मेंद्र यादव सपा अध्यक्ष के चचेरे भाई हैं।

सपा की उम्मीदों पर फिर गया पानी

आज से करीब साढ़े तीन महीने पहले जब यूपी विधानसभा के नतीजे सामने आए थे, तो उस समय आजमगढ़ में सपा का ही बोलबाला था। आजमगढ़ की 10 की 10 सीटों पर सपा ने क्लीन स्वीप किया था और जीत हासिल की थी। ऐसे में उम्मीदें इस बार भी कुछ ऐसी ही थीं। लेकिन जब आज नतीजे सामने आए तो मामला तो एकदम चौंकाने वाला था। सपा को हराकर भाजपा ने जीत का बिगुल बजा दिया और सपा की उम्मीदों पर तो मानो पानी ही फेर दिया।

इसी के साथ ही दिल्ली में राजेंद्र नगर विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव पर आप ने लगातार तीसरी बार शानदार जीत हासिल की है। आप ने जीत की हैट्रिक लगा दी है। आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी दुर्गेश पाठक ने भाजपा के प्रत्याशी राजेश भाटिया को 11,468 वोटों से शिकस्त दी है।

Leave a Reply