June 12, 2024
pm modi

pm modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने शनिवार को पूर्वी असम के जोरहाट में अहोम जनरल लाचित बोरफुकन (Lachit Borphukan) की 125 फुट की कांस्य प्रतिमा का अनावरण किया। ये प्रतिमा उनके दफन स्थल के पास स्थापित की गई है। इस मूर्ति की ऊंचाई 84 फीट है, जो 41 फीट के पेडस्टल पर स्थापित है। इस मूर्ति की कुल ऊंचाई 125 फीट है। इसका अनावरण टेओक के पास होल्लोंगापार में लाचित बरफुकन मैदाम विकास परियोजना में किया गया।

Lachit Borphukan

पर्यटन स्थल में किया जा रहा विकसित

16.5 एकड़ में फैले इस क्षेत्र को एक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जा रहा है, जो क्षेत्र के इतिहास को उजागर करता है। प्रतिमा की नींव फरवरी 2022 में पूर्व राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने रखी थी।

बता दें कि लाचित बोरफुकन अहोम साम्राज्य (1228-1826) के एक प्रसिद्ध सेना कमांडर थे। उन्हें 1671 की ‘सरायघाट की लड़ाई’ में उनके नेतृत्व के लिए जाना जाता है, जिसने राजा रामसिंह-प्रथम के नेतृत्व में शक्तिशाली मुगल सेना द्वारा असम को वापस लेने के प्रयास को विफल कर दिया था।

49 साल की उम्र में हुई मौत

49 साल की उम्र में बीमारी के कारण उनकी मृत्यु हो गई और उन्हें हॉलोंगापार में ‘मैदाम’-अहोम राजघरानों और रईसों के कब्रिस्तान में दफनाया गया, जहां अब स्मारक बनाया जा रहा है। पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मानित अनुभवी मूर्तिकार राम वनजी सुतार को प्रतिमा बनाने का काम सौंपा गया था, जिसे यूपी के गाजियाबाद में उनके स्टूडियो में बनाया गया। सुतार ने गुजरात में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का निर्माण किया था।

Leave a Reply